टाटा नैनो, बाय-बाय!


नैनो परियोजना बंगाल से जा रही है। मशीनरी बाहर भेजी जा रही है। चुनाव का समय आसन्न है। साम्यवादी शासन मुक्त हुआ। अब जनता में सर्वहारा समर्थक छवि लाई जा सकती है। ब्लॉगजगत में भी अब मुक्त भाव से उद्योगपतियों की निंदा वाली पोस्टें आ सकती हैं। टाटा नैनो, बाय-बाय! यह नैनो (गुजराती में नानोContinue reading “टाटा नैनो, बाय-बाय!”