ब्लॉग अभिव्यक्ति का कम; रूपांतरण का माध्यम अधिक होना चाहिये


आप रोज ३०-४० ब्लॉग पढ़ते हैं। उनमें से पचास फीसदी पर तो टिप्पणी करते हैं ही। रोज आप को ऐसा कम ही मिलता है कि ब्लॉगर रूपांतरित हो रहे हों। एक ब्लॉगर संवेदनशील कवि है, तो वह उसी संवेदना की कवितायें ठेलता जाता है। फुरसतिया समय की कमी के बावजूद रूपांतरित नहीं होते। उनके दिमागContinue reading “ब्लॉग अभिव्यक्ति का कम; रूपांतरण का माध्यम अधिक होना चाहिये”

होमवर्क की आउटसोर्सिंग!


बच्चों का होमवर्क मम्मियां करती हैं – प्राइमरी कक्षाओं तक। पर यह तो गजब है – आस्ट्रेलिया के कम्प्यूटर साइंस के विद्यार्थी अपना होमवर्क भारत के प्रोग्रामर्स को आउटसोर्स कर दे रहे हैं! और १०० आस्ट्रेलियायी डालर्स में उनका काम पक्का कर उन्हे मिल जा रहा है। बाकायदा रेण्ट-अ-कोडर पर निविदा निकलती है। कोडर अपनीContinue reading “होमवर्क की आउटसोर्सिंग!”

पिछले एक महीने में सर्वाधिक पढ़ी गयी पोस्टें


पिछले ३० दिनों में सर्वाधिक पढ़ी जाने वाली मेरी ब्लॉग पोस्टें, जैसा फीडबर्नर ने सम्पादित किया है; निम्न हैं:  १. अहिन्दी भाषी श्री जी. विश्वनाथ का परिचय…२. अशोक पाण्डेय, उत्कृष्टता, खेतीबाड़ी और द…३. iGoogle से ब्लॉगस्पॉट में पोस्टिंग का ग…४. मिलिये स्वघोषित भावी प्रधानमन्त्री से!५. बंदर नहीं बनाते घर – क्या किया जाये? ६. जेफ्रीContinue reading “पिछले एक महीने में सर्वाधिक पढ़ी गयी पोस्टें”