अयोध्या का पहला ऑर्कियॉलॉजिकल उत्खनन बनारस हिंदू विश्वविद्यालय ने किया था


बी.एच.यू. के पुरातत्व विभाग ने अपने पुराने संग्रह से सभी उपयुक्त सामग्री चिन्हित कर एकत्र कर ली है। डा. अशोक कुमार सिंह कहना था कि वे लोग एक महीने में यह विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर लेंगे।

पुरा-वनस्पति शास्त्री डा. अनिल पोखरिया जी


डा. अनिल से बातचीत में ही पता चला कि अरहर की दाल गांगेय प्रदेश में पहले नहीं मिलती। ओडिसा से सम्भवत यहां आयी। इसी प्रकार कटहल दक्षिण भारत से उत्तर के गांगेय और सरयूपार इलाकों में आया।

संसाधनों की कमी से जूझते अगियाबीर के पुरातत्वविद


खुदाई अगर साधनों की कमी के कारण टलती रही तो बहुत देर नहीं लगेगी – बड़ी तेजी से खनन माफिया टीले की मिट्टी के साथ साथ सिंधु घाटी के समान्तर और समकालीन नगरीय सभ्यता मिलने की सम्भावनायें नष्ट कर जायेगा।