सुलेम सराय का इक्का, बैलगाड़ी और डीजल-पेट्रोल के दाम


इक्का १ इक्का २ टेम्पो पर पीछे लटकता कण्डक्टर || चलते वाहन में से मोबाइल द्वारा ली गयी तस्वीरें || इस मध्यम आकार के शहर इलाहाबाद में कम्यूटर (शहर में आने जाने वाले) के लिये मुख्य साधन है विक्रम टेम्पो। हड़हड़-खड़खड़ करते टेम्पो, जिनके पीछे लिखा रहता है – “स्क्रबर@ युक्त ~ प्रदूषण मुक्त”। परContinue reading “सुलेम सराय का इक्का, बैलगाड़ी और डीजल-पेट्रोल के दाम”

भोर का सपना


स्वप्न कभी कभी एक नये वैचारिक विमा (डायमेंशन) के दर्शन करा देते हैं हमें। और भोर के सपने महत्वपूर्ण इस लिये होते हैं कि उनका प्रभाव जागने पर भी बना रहता है। उनपर जाग्रत अवस्था में सोचना कभी कभी हमें एक नया मकसद प्रदान करता है। शायद इसी लिये कहते हैं कि भोर का सपनाContinue reading “भोर का सपना”

ब्लॉग के शीर्षक का संक्षिप्तीकरण और फुटकर बातें


   मिट्टी की खिलौना गाड़ी – एक बच्चे की कल्पना की ऊड़ान मैने पाया कि लोगों ने मेरे ब्लॉग का संक्षिप्तीकरण समय के साथ कर दिया है – "हलचल" या "मानसिक हलचल"। मेरे ब्लॉग को मेरे नाम से जोड़ने की बजाय वे इन शब्दों से उसे पुकारते रहे हैं। कभी कभी तो इस प्रकार कीContinue reading “ब्लॉग के शीर्षक का संक्षिप्तीकरण और फुटकर बातें”