छ्ठ्ठन, नये ग्राम प्रधान


वे खुद बताते हैं कि रेलवे गेटमैन की ड्यूटी करते हुये उनको सड़क यातायात वालों की खरीखोटी सुनने का अनुभव है और वे जानते हैं कि नम्रता से ही काम निकलता है, अकड़ से नहीं।